यूपी: "बुखार की चपेट में एक हजार से ज्यादा ग्रामीण", 16 को डेंगू, चार लोगों की मौत

संभल जिले के गांव गढ़ी बिचौला में बुखार का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है। इसका प्रकोप अन्य गांवों में भी फैलना शुरू हाे गया है। प्रशासन ने रोकथाम के लिए चिकित्सकों की टीम को मौके पर भेजना शुरू कर दिया है।

Aug 23, 2023 - 07:56
 0  14
यूपी: "बुखार की चपेट में एक हजार से ज्यादा ग्रामीण", 16 को डेंगू, चार लोगों की मौत

करीब सात हजार की आबादी वाला गांव गढ़ी बिचौला बुखार से तप रहा है। मंगलवार को बुखार से पीड़ित चार लोगों की मौत हो गई। जांच के दौरान 16 ग्रामीणों में डेंगू की पुष्टि हुई है। एक हजार से ज्यादा लोग बुखार से पीड़ित हैं। गांव में रहने वाले अबुजर समर ने बताया कि उसकी भतीजी इलमा (15) को चार दिन से बुखार आ रहा था। सोमवार को हालत ज्यादा खराब होने पर इस्लामनगर के निजी अस्पताल ले गए। प्लेटलेट्स कम बताने पर चंदौसी के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया। मंगलवार को उसकी मौत हो गई। ग्राम प्रधान अबरार खां के मुताबिक साबिर सैफी (55) पांच दिनों से बुखार की चपेट में थे।पहले अलीगढ़ और फिर अमरोहा जिले के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया था। मंगलवार की दोपहर साबिर ने दम तोड़ दिया। इसी तरह हिम्मतपुर ते रईस अहमद (48) की भी मंगलवार को बुखार से मौत हो गई। वह ढाई महीने से गढ़ी बिचौला में अपनी बहन के घर थे।चार दिनों से बुखार आ रहा था। इसके अलावा नजर मुहम्मद (60) को भी कई दिनों से बुखार आ रहा था। मंगलवार की सुबह उनकी भी जान चली गई।

12 दिन में सात लोगों की जा चुकी है जान

इससे पूर्व दस दिनों में गांव निवासी अनीजा (60), लुकमान (28), खुशी मोहम्मद (55 वर्ष) की भी बुखार से मौत हो चुकी है। पिछले 12 दिनों में बुखार से गढ़ी बिचौला में सात लोेगों की जान जा चुकी है।

तीन दिन में 1200 लोगों उपचार 

अमर उजाला के गांव में बुखार की समस्या को प्रमुखता से उठाने पर स्वास्थ्य विभाग की टीम कैंप लगाकर लोगों का उपचार कर रही है। साथ ही मलेरिया, टायफाइड, डेंगू, हिमोग्लोबिन आदि की जांच के लिए सैंपल भी ले रही है। मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने कैंप लगाकर करीब 500 मरीजों का स्वास्थ्य परीक्षण किया।

मरीज की टाइफाइड, मलेरिया, डेंगू, पीलिया, हिमोग्लोबिन सहित जांच के लिए सैंपल भी लिए गए हैं। वहीं इससे पहले सोमवार को शिविर में 435 मरीजाें, शनिवार को 204 मरीजाें का उपचार किया। शिविर में जुनावई सीएचसी प्रभारी डॉ. नरेश यादव, डॉ. रोहित यादव, डॉ. चंद्रकेश, लैब असिस्टेंट किशनपाल, सीएचयू आकाश कुमार, सीएचयू मीनाक्षी सहित आदि लोग मौजूद रहे।

कैंप के बावजूद झोलाछाप से करवा रहे उपचार

गांव गढ़ी बिचौला में तीन दिन से स्वास्थ्य विभाग की टीम शिविर लगाए हुए है। गांव में घर घर में बुखार रोगी हैं। लोग स्थानीय झोलाछाप से उपचार कर रहे हैं। उपचार के दौरान झोलाछाप मरीजाें को घर पर ही पेड़, टीनशेड में टांग कर ड्रिप लगा रहे हैं।


गांव में लगातार स्वास्थ्य विभाग की टीम शिविर लगा रही है। शिविर में मरीजों की जांच कराकर उपचारित कराया जा रहा है। गंभीर मिल रहे मरीजों को सीएचसी में भर्ती कराकर इलाज किया जा रहा है। बुखार तेज होने के कारण ही गांव में मौत हुई है।  - डॉ. मनोज चौधरी, जिला सर्विलांस अधिकारी संभल
Disclaimer :  fastnewsplus ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर amar ujala की फीड से प्रकाशित की गयी है।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow