"पांच गिरजाघरों को तोड़ने वाले 100 लोग गिरफ्तार",यह एक सोची समझी साजिश है - "कैबिनेट मंत्री"

पंजाब सरकार के अंतरिम सूचना मंत्री अमीर मीर ने कहा कि हमने घटना की जांच के लिए उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए हैं। शांति भंग करने वाले लोगों को हिरासत में लिया गया है। मंत्री का कहना है कि यह घटना एक सोची-समझी साजिश है।

Aug 17, 2023 - 04:51
 0  6
"पांच गिरजाघरों को तोड़ने वाले 100 लोग गिरफ्तार",यह एक सोची समझी साजिश है - "कैबिनेट मंत्री"

पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के खिलाफ अत्याचार कोई नई बात नहीं है। ईशनिंदा के मामले भी पाकिस्तान में आये दिन आते रहते हैं। बुधवार को पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के फैजलाबाद में पांच चर्च तोड़ दिए गए, जिसके बाद सरकार ने कार्रवाई की और हिंसा में शामिल 100 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। कुरान की बेअदबी के आरोप में लोग हिंसक हो गए और उन्होंने पांच चर्च तोड़ डाले थे।

पाकिस्तानी मीडिया के अनुसार, हिंसक भीड़ ने चर्च के आस-पास रहने वाले लोगों के घरों को भी जला दिए थे। उन्होंने रहवासियों के साथ मारपीट भी की और लूटपाट भी मचाई। इस दौरान मौके पर खड़ी पुलिस सिर्फ तमाशबीन बनी रही। पंजाब सरकार के अंतरिम सूचना मंत्री अमीर मीर ने कहा कि हमने घटना की जांच के लिए उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए हैं। शांति भंग करने वाले लोगों को हिरासत में लिया गया है। मंत्री का कहना है कि यह घटना एक सोची-समझी साजिश है। जनता की भावनाओं को भड़काकर शांति भंग करने की कोशिश की गई थी। फिलहाल, फैसलाबाद के हिंसाग्रस्त इलाकों में पाकिस्तानी रेंजर्स के जवान तैनात हैं। स्थिति नियंत्रण में है। मीर ने कहा कि कुरान की बेअदबी की घटना बढ़ती जा रही है। कानून को अपने हाथों में लेने की कोशिश करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उन्हें तुरंत गिरफ्तार किया जाएगा।

पाकिस्तानी मीडिया के अनुसार, घटनास्थल में करीब 6000 से अधिक सुरक्षाबल तैनात हैं। इसाई नेताओं का आरोप है कि पूरी घटना के दौरान पुलिस सिर्फ दर्शक बनी रही। चर्च ऑफ पाकिस्तान के अध्यक्ष बिशप आजाद मार्शल ने बताया कि ईसाइयों पर अत्याचार और उनका उत्पीड़न किया जा रहा है। बिशप ने ट्वीट कर कहा कि घटना के कारण हम बेहद दुखी हैं। बाइबिल का अपमान किया जा रहा है। चर्च जलाए जा रहे हैं। ईसाइयों पर कुरान की बेअदबी करने का झूठा आरोप लगाया गया है। उन्हें प्रताड़ित किया गया है। हम न्याय की गुहार लगाते हैं। 

Disclaimer :  fastnewsplus ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर amar ujala की फीड से प्रकाशित की गयी है।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow