हिंसा की मार झेल रहे मणिपुर पर एक और मुसीबत,"आपूर्ति के लिए लगाए 500 ट्रक फंसे" !!

अधिकारियों ने गुरुवार को बताया कि पिछले कुछ दिनों से लगातार हो रही बारिश के कारण भूस्खलन हुआ है। भूस्खलन के कारण राजमार्ग के विभिन्न हिस्सों में कम से कम 500 मालवाहक वाहन फंस गए हैं।

Aug 17, 2023 - 10:32
 0  8
हिंसा की मार झेल रहे मणिपुर पर एक और मुसीबत,"आपूर्ति के लिए लगाए 500 ट्रक फंसे" !!

हिंसा की मार झेल रहे मणिपुर पर एक और मुसीबत आ गई है। यहां के नोनी जिले में भारी बारिश के कारण बड़े पैमाने पर भूस्खलन हुआ, जिससे इंफाल-सिलचर राजमार्ग अवरुद्ध हो गया। इतना ही नहीं, यहां भूस्खलन के कारण कम से कम 500 मालवाहक वाहन फंस गए हैं।

अधिकारियों ने गुरुवार को बताया कि भूस्खलन बुधवार को राष्ट्रीय राजमार्ग 37 पर इरांग और अवांगखुल भाग 2, खोंगसांग व अवांगखुल और रंगखुई गांव के बीच हुआ। उन्होंने कहा कि मार्ग को साफ करने और यातायात की आवाजाही फिर से शुरू करने के लिए काम चल रहा है।

उन्होंने बताया कि पिछले कुछ दिनों से लगातार हो रही बारिश के कारण भूस्खलन हुआ है। भूस्खलन के कारण राजमार्ग के विभिन्न हिस्सों में कम से कम 500 मालवाहक वाहन फंस गए हैं।

पिछले साल जून में जिले में एक रेलवे निर्माण स्थल पर भारी भूस्खलन हुआ था। इसमें कम से कम 61 लोग मारे गए। भूस्खलन 30 जून को जिरीबाम-इंफाल रेलवे लाइन के तुपुल रेलवे यार्ड निर्माण स्थल पर हुआ था। बता दें, हिंसा प्रभावित राज्य में भूस्खलन के कारण आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति प्रभावित होने की आशंका है। 


गौरतलब है, मैतेई समुदाय को अनुसूचित जनजाति (एसटी) का दर्जा दिए जाने की मांग के विरोध में तीन मई को पर्वतीय जिलों में ‘आदिवासी एकजुटता मार्च’ के आयोजन के बाद झड़पें शुरू हुई थीं। राज्य में तब से अब तक कम से कम 160 से अधिक लोगों की जान जा चुकी है। हिंसा में सैकड़ों लोगों की जान जा चुकी है और हजारों लोग विस्थापित हुए हैं।
Disclaimer :  fastnewsplus ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर amar ujala की फीड से प्रकाशित की गयी है।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow